लोकतंत्र का महापर्व कल सुरक्षा व्यवस्था के साथ पोलिंग पार्टियां मतदेय स्थलों को रवाना

अराजकता फैलाने की कोशिश करने वालों पर तत्काल कठोर कार्यवाही की जाएगी

मई 12, 2024 - 20:06
लोकतंत्र का महापर्व कल सुरक्षा व्यवस्था के साथ पोलिंग पार्टियां मतदेय स्थलों को रवाना

0 निष्पक्ष चुनाव के लिये 16 जोन में बांटा गया कन्नौज,87 सौ जवान संभालेंगे सुरक्षा व्यवस्था की कमान।

0 मतदान प्रभावित करने वालों पर तत्काल होगी कार्यवाही, मतदान केंद्रों से 200 मीटर दूर लगेंगे दलों के बस्ते।

0 इस बार प्रतिनिधियों को भी ईवीएम के साथ जाने का अवसर, ताकि ना लग सके कोई आरोप प्रत्यारोप।

द स्वार्ड ऑफ इंडिया

कन्नौज । लोकतंत्र का महापर्व शुरू होने को है। चंद घंटों बाद ही मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग अपने मनचाहे प्रत्याशी के लिये पोलिंग बुथ पर जाकर महापर्व मनाएंगे।

जिले की सरकारी मशीनरी ने चुनाव को ब्यबस्थित ढंग से संपन्न कराने को जोर दार तैयारियां की हैं।

कल सोमवार की सुबह 7 बजे से मतदेय स्थलों पर मतदान के महापर्व की शुरुआत होगी।

रविवार को कन्नौज के तीन रवानगी स्थलों से पोलिंग पार्टियां चुनाव समिग्री के साथ पुलिस बल की सुरक्षा व्यवस्था के साथ अपने अपने मतदान केंद्रों के लिये रवाना हुईं।

बताते चलें कि, लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में होने वाले मतदान को लेकर पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के जोरदार इंतजाम किये हैं। अतिसंवेदनशील बूथों पर बीएसएफ, पीएसी, सीआईएसएफ, आईटीवीपी के जवान तैनात किये गये हैं। ड्रोन कैमरों के साथ करीब 8700 जवान मतदान प्रक्रिया के दौरान अराजक तत्वों पर नजर रखेंगे।

कल 13 मई को मतदान संपन्न कराये जाने को लेकर जिले को 140 सेक्टर, एवम 16 जोन में बांटा गया है। इसमें कन्नौज को 42, तिर्वा को 46, एवम छिबरामऊ को 52 सेक्टर में बांटा गया है। छिबरामऊ को 6 जोन और कन्नौज एवम तिर्वा को 5 जोन में रखा गया है।

एसपी अमित कुमार आनंद के मुताबिक चुनाव को भय मुक्त और शांतिपूर्वक संपन्न कराए जाने को लेकर उपरोक्त पुलिस की क्रमश : 14 और 5 कंपनियों के जवान लगाये गये हैं। चुनाव के लिये जारी निर्देशों में राजनैतिक दलों के बस्तों को मतदान केंद्र से 200 मीटर दूर बस्ते लगाये जाने को कहा गया है।

प्रत्येक थाना क्षेत्र में दस मोबाइल टीमों को लगाया गया है, जो लगतार मतदान प्रक्रिया के दौरान भ्रमण पर रहेंगी।

अराजकता फैलाने की कोशिश करने वालों पर तत्काल कठोर कार्यवाही की जाएगी।

शराब वितरण, धन वितरण, असलहों का प्रदर्शन, किसी मतदाता को धमकाने, वोटरों की मतदान से रोकने, वालों पर पुलिस सादी वर्दी में भी खास नजर रखेगी, और नियमों के उल्लंघन पर सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। मतदान का दिन होने ले कारण सार्वजनिक अवकाश घोषित किये जाने के कारण शराब और अन्य प्रतिष्ठान बंद रखे जायेंगे।

हिला निर्वाचन अधिकारी सुभ्रांत कुमार शुक्ल ने बताया कि पोलिंग पार्टियों के साथ मौजूद सुरक्षा बल कड़ी चौकसी बरतेगा, और पोलिंग पार्टियों की हिफाजत करने के अलावा उनके साथ ही चुनाव संपन्न होने पर साथ ही बापसी करेगा।

किसी भी राजनैतिक दल के नेता को पोलिंग केंद्र के अंदर अपना गनर नहीं ले जा सकेगा। केबल जेड प्लस वाले नेता ही एक गनर ले जा सकेंगे।

मतदेय स्थल पर मतदान अभिकर्ता पर भी मोबाइल ले जाने का प्रतिबंध लगाया गया है।

बताते चलें कि कन्नौज जिले में मतदान की प्रक्रिया संपन्न कराये जाने को तिर्वा में 487 बूथ जबकि कन्नौज में 485 बूथ,छिबरामऊ में 547 बूथ बनाये गये हैं। इस प्रकार कुल 1519 बूथों पर जिले के मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

रविवार को कन्नौज की नवीन मंडी समिति, तिर्वा के डी एन इण्टर कॉलेज और छिबरामऊ के नवीन मंडी समिति से पोलिंग पार्टियां अपनी चुनाव सामग्री और सुरक्षा व्यवस्था के साथ संबंधित मतदेय स्थलों के लिये रवाना हुईं।

बताते चलें कि बीते वर्ष 2014 के चुनाव में 58 प्रतिशत, जबकि वर्ष 2019 में 60.68 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। इस बार चलाये गये जागरूकता अभियान के बाद प्रशासन को उम्मीद है कि मतदान का प्रतिशत इस बार और बेहतर होगा।

बताते चलें कि लोकसभा चुनाव को संपन्न कराये जाने के क्रम में अन्य व्यवस्थाओं में बड़ी संख्या में वाहनों का अधिग्रहण भी किया गया है।

इसके तहत कन्नौज के सभी मतदेय स्थलों तक पहुंचाने को पोलिंग पार्टियों, सुरक्षा बलों आदि के लिये 354 बसें और 629 छोटे वाहन कुल 983 वाहनों की व्यवस्था की गई है। 

इस बार प्रशासन ने एक खास व्यवस्था भी की है। चुनाव आयोग के निर्देशानुसार कलेक्ट्रेट मुख्यालय से पोलिंग पार्टी रवानगी स्थलों तक ईवीएम को बंद वाडी कंटेनर में शिफ्ट करके भेजा गया है। राजनैतिक दलों के प्रत्याशी और प्रतिनिधि को इस बर यह मौका दिया गया है कि, वह ईवीएम के साथ जा सकते हैं।

 कंटेनर को सील किये जाने के बाद उपरोक्त जनप्रतिनिधियों के लिये यह सुविधा दी गई है ताकि कोई आरोप प्रत्यारोप ना होने पाये। मतदान की प्रक्रिया संपन्न होने के बाद ईवीएम मशीनों को सुरक्षा व्यवस्था के बीच स्ट्रांग रूम में जमा कराने को भी ब्यबस्थायें की गई हैं।

1519 पोलिंग पार्टियों के अलावा इस बार दस प्रतिशत मतदान कर्मियों को रिजर्व में भी रखा गया है।

सोमवार को उपरोक्त सभी पोलिंग पार्टियां अपने अपने रवानगी स्थल से सुबह 8 बजे रवाना होनी शुरू हुईं। यह क्रम दोपहर बाद तक जारी रहा।

रवानगी स्थल पर बनाये गये सूचना केंद्रों पर मतदान कर्मियों ने अपनी ड्यूटी का केंद्र, अपनी चुनाव सामग्री, और अन्य व्यवस्थाओं को लेकर आदि जानकारी प्राप्त की। इसके बाद मतदान कर्मी अपने अपने बूथों को रवाना हुये।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow