जड़ाव ज्वेलर्स ने बनाया भारत का इकलौता पदमिनी हार

अक्षय तृतीया एक अति शुभ अवसर है जो प्रति वर्ष बहुत उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है

मई 9, 2024 - 17:05
जड़ाव ज्वेलर्स ने बनाया भारत का इकलौता पदमिनी हार
पदमिनी हार

लखनऊ। अक्षय तृतीया एक अति शुभ अवसर है जो प्रति वर्ष बहुत उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है। इसी पावन अवसर पर अपनी उत्कृष्ट शिल्प कौशल और अद्वितीय डिजाइनों के लिए मशहूर अग्रणी जयपुर स्थित आभूषण निर्माता जड़ाव ज्वैल्स ,

लखनऊ स्थित स्टोर पर नए भव्य ब्राइडल डायमंड पोल्की कलेक्शन बेहद उत्कृष्ट दामों पर लाए है। जटिल कारीगरी वाले नाज़ुक हार से लेकर पोल्की से आच्छादित स्टेटमेंट चोकर्स तक, यह रेंज पारंपरिक भारतीय आभूषणों के बेहतरीन उदाहरण पेश करती है।

संग्रह का मुख्य आकर्षण ब्राइडल कलेक्शन हैं, जिसमें 22k सोने में सेट पोल्की हीरे से जड़ी अलंकृत माथा पट्टी, भव्य एव बेहतरीन जड़ाव पदमिनी हार और चूड़ियाँ शामिल है। जड़ाव पदमिनी हार विशेषत इसी अवसर के लिए अद्भुत व बेजोड़ कारीगरी के साथ लगभग 2 माह के परिश्रम से बनाया गया है।

 जो अकल्पनीय दामो पर दुल्हन की भव्यता में चार चाँद लगाने में सक्षम है जिसकी उपस्थिति इस ख़ास दिन को और भी बेहद ख़ास बनाती है । इन राजसी परिधानों के बिना कोई भी दुल्हन का जोड़ा पूरा नहीं होता।

जड़ाव ज्वैल्स का यह अद्भुत , भव्य कलेक्शन जिसमे 22 कैरेट हॉलमार्कड तथा कालांतर में पहली बार IGI सर्टिफ़ाइड पोल्की आभूषण मात्र पर मात्र 40 हज़ार रु. से प्रारंभ होता है, जिस समय सोने के भाव शिखर पर है ।

इस अक्षय तृतीया, बेहद उत्कृष्ट नए संग्रह को देखने और विशेष छूट का लाभ उठाने के लिए उनके स्टोर आज ही जाएँ जहां स्पिन द व्हील ऑफर पहली बार लखनऊ में उनके स्टोर पर चालू है जिसमें आपको 100% तक लेबर चार्ज में छूट के साथ सोने के वजन के बराबर चाँदी तथा एक विशेष रेंज तक के आभूषण ख़रीद पर 5000 तक का कैश बैक ऑफर प्राप्त होता है।

यह मौक़ा ना चुके क्यों कि यह शुभ अवसर, सुंदर नए गहनो के साथ मिलकर दुल्हन के लिए विवाह की इस पावन बेला को चिरस्थायी बनाता है एवं परिवार की विरासत को नये आयाम प्रदान करता है ।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow