जटिल STEM वातावरण में नवाचार और उत्पादकता की मांगों को पूरा करने के लिए विविधता आवश्यक: कुलपति

जिसका विषय विज्ञान में विविधता को उत्प्रेरित करना था।

फ़रवरी 27, 2024 - 09:57

द स्वार्ड ऑफ इंडिया

कानपुर। क्राइस्ट चर्च महाविद्यालय के रसायन विज्ञान विभाग द्वारा आयु पैक इंटरनेशनल यूनियन आफ प्योर एंड अप्लाइड केमेस्ट्री यूएसए, ग्लोबल वूमेन ब्रेकफास्ट की संस्था के सहयोग से एक दिवसिय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

 जिसका विषय विज्ञान में विविधता को उत्प्रेरित करना था। संगोष्ठी के मुख्य अतिथि कुलपति प्रोफ़ेसर विनय कुमार पाठक ने अपने अध्यक्षीय भाषण में बताया जटिल STEM वातावरण में नवाचार और उत्पादकता की मांगों को पूरा करने के लिए विविधता आवश्यक हैं।

महिलाओ का विज्ञान के क्षेत्र में डिजिटल सशक्तिकरण होना अत्यंत आवश्यक है तभी वह आगे आने वाली पीढ़ी को भी सशक्त कर पाएंगी। प्रोफेसर मैरी गारसन उपाध्यक्ष IUPAC USA ने सभी प्रतिभागियों को विज्ञान की महत्व के बारे संबोधित किया और युवा पीढ़ी का योगदान भी महत्वपूर्ण ये बताया।

 विश्वविद्यालय के CDC निर्देशक डॉ. आर.के. द्विवेदी ने विविधता का महत्व बताया और विविधता किस प्रकार एक विकसित भारत बनाने में सहायक है।

इस विषय पर प्रकाश डाला गया है। कॉलेज के प्रचार्य प्रोफेसर जोसेफ डेनियल के दिशानिर्देसन में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।|कार्यक्रम में लॉरा मैककोनेल सह संस्थापक यूएसए और वीनू पीडिया दक्षिण अफ्रीका से भी व्याख्यान दिया कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ श्वेता चंद ने प्रार्थना द्वारा किया। सभी प्रतिभागियों का स्वागत प्रोफेसर डॉ अनिंदिता भट्टाचार्य , ने किया कार्यक्रम की संयोजक डॉ मीत कमल ने संगोष्ठी के शीर्षक की जानकारी दी उन्होंने बताया कि कैसे विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी द्वारा सशक्त समाज का निर्माण किया जा सकता है तथा छात्र-छात्राओं को इस विषय की प्रेरणा देनी बहुत ही जरूरी है

कार्यक्रम का संचालन शिरीन और जूही ने कुशल पूर्वक किया क्राइस्ट चर्च, पीपीएन, एनएसआई, सीएसजेएमयू के अनुसंधान विद्वान और पीजी, यू जी अंतिम वर्ष के छात्रों ने अपने शोध विषय पर प्रस्तुति दी। तकनीकी सत्र में डॉ ज्योत्सना लाल , डॉ.सुधीर गुप्ता ,डॉ. नथानिएल आदि मौजुद थे।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow